कोंडागांवराजनीतिव्यापार

चिट फन्ड कम्पनियों के विरूद्ध आवेदनों, पर्यटन क्षेत्र में पंचायतों की सहभागिता व कोरोना की तीसरी लहर पर कलेक्टर ने लिये कई महत्वपूर्ण निर्णय

आज कलेक्ट्रेट के सभाकक्ष में आयोजित समय-सीमा बैठक में कलेक्टर पुष्पेन्द्र कुमार मीणा द्वारा मुख्यमंत्री जनचौपाल, जनदर्शन एवं समय-सीमा से संबंधित विभागीय मुद्दों के निराकरण पर विशेष दिशा-निर्देश दिये गए। इनमें समय-सीमा की बैठक के एजेण्डे में, सुराजी योजनाओं का अपडेट लिया गया। चिट फन्ड कम्पनियों द्वारा मुख्यालय सहित तहसीलों में आवेदनों की संख्या, जिले के गोठानों में गोबर खरीदी, वर्मी कम्पोस्ट, जिले में कोविड नियंत्रण से संबंधित वैक्सिनेशन एवं टेस्टिंग की प्रक्रिया में वृद्धि, सुपोषण जैसे मुददे पर विस्तार से जानकारी ली गयी।
चिट फण्ड में ठगे गये लोगों को राहत की कवायद – बैठक में कलेक्टर ने कहा कि चिट फन्ड कम्पनियों के विरूद्ध कार्यवाही शासन की प्रमुख प्राथमिकता में है और जिले में इस जालसाजी के शिकार लोगों की संख्या भी अधिक है। मुख्यालय एवं तहसीलों में आवेदन जमा करने एवं संबंधित राशि के विवरण को तैयार कर शीघ्र अतिशीघ्र जिला कार्यालय भेजा जाये।
पर्यटन की बेहतरी के लिये जोडेगें स्थानीय गा्रमीणों को – कलेक्टर ने कुएंमारी, उपरवेदी, मुत्तेकड़का जैसे जलप्रपातों का जिक्र करते हुए कहा कि जिले में पर्यटन की अपार संभावनाओं को सुविकसित करने के लिये उसे सुविधायुक्त बनाना जरूरी है ताकि अन्य क्षेत्रों के अधिक से अधिक पर्यटक यहां आकर्षित हों। यहां ग्राम पंचायतों को पर्यटन स्थल के प्रबंधन की जिम्मेदारी दी जानी चाहिए और स्थानीय युवाओं को इस कार्य से जोड़कर उनके लिये रोजगार मुहैया कराया जा सकता है। साथ ही पर्यटन स्थल में प्रसाधन कक्ष, विश्राम के लिए पगोड़ा का निर्माण, कैंटीन के संचालन एवं स्थल एवं परिसरों पर स्वच्छता सुविधा विकसित करनी होगी।
स्वीकृत 52 चारागाहों में से 6 हुये पूरे – जिले के 383 ग्राम पंचायतों में कुल स्वीकृत चरागाह 52 है। इनमें 13 प्रगतिरत्, 33 अप्रारंभ और 6 कार्य पूर्ण हुए हैं। इसके साथ ही जिले में 247 गोठान स्वीकृत किये गये हैं, इनमें से वनमंडल द्वारा प्रस्तावित 17 गोठान भी शामिल है। इन गोठानों में स्वीकृत 1119 वर्मी टाका निर्माण में 872 पूर्ण, 198 प्रगतिरत्, 49 अप्रारंभ तथा भरे गये वर्मी टाका की संख्या 471 है। साथ ही वर्मी बेड की संख्या 2580 है।
गौठान की वर्मी खाद को खरीदेंगे विभाग – आगामी समय में वर्मी कम्पोस्ट खाद को विभिन्न विभागों में विक्रय कर निर्धारित समयावधि में स्व-सहायता समूह व गोठान समिति को राशि भुगतान के लिये उड़ान द्वारा जिला प्रशासन से प्राप्त राशि से विभिन्न विभागों को गोठान से खाद प्रदाय किया जायेगा तथा जिले के गोठानों से गोधन न्याय योजनांतर्गत निर्मित वर्मी कम्पोस्ट खाद को कोई भी कृषक गोठान से नोडल अधिकारी, सचिव या स्व-सहायता समूह को आवश्यक जानकारी व राशि प्रदाय कर खरीद सकता है।
कोविड की तीसरी लहर रोकने बढेगा वैक्सीनेषन – अन्य प्रदेशों में कोरोना के बढ़ते तीसरे लहर की आशंका को देखते हुए तमाम आवश्यक सावधानियां लगातार जारी रहेंगी। इसके लिये कोरोना टेस्टिंग एवं वैक्सिनेशन करने की संख्या को बढ़ाया जाये साथ ही शासकीय कार्यालयों में थर्मल स्कैनिंग तथा सैनेटाईजर की व्यवस्था सुनिश्चित होनी चाहिए। बैठक में जिला पंचायत सीईओ डीएन कश्यप सहित समस्त विभागों के अधिकारी-कर्मचारी उपस्थित रहे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button