कोंडागांव

जिले के आंगनबाड़ी केंद्रों में मनाया गया मया मंडई माय पिला चो तिहार, यूनीसेफ की टीम रही मौजूद

जिले के विभिन्न आंगनबाड़ी केंद्रों में मया मंडई माय पिला चो तिहार मनाया गया। मया मंडई का मुख्य उद्देश्य बच्चों, शिशुवती माताओं, गर्भवती माताओं को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं प्रदान करवाना है।
पॉवर आफ फाईव – इस कार्यक्रम के तहत पांच की शक्तियां टीकाकरण, मातृ स्वास्थ्य, बाल स्वास्थ्य, कुपोषण, एनीमिया को मुख्य रूप से शामिल किया गया है। इसी कार्यक्रम के तहत जिले में यूनिसेफ की टीम ने मया मंडई को देखने विभिन्न आंगनबाड़ी केंद्रों का दौरा कर किया। इसी सिलसिले में कंसलटेंट राहिल सूबेदार द्वारा हितग्राहियों व ग्रामीण व्यक्तियों से मुलाकात कर उन्हें मया मंडई के संबंध में विस्तृत जानकारी दी गई। तथा उन्हें अधिक से अधिक मया मंडई का लाभ लेने कहा गया।
महिला व षिषुओं के बेहतर स्वास्थ के लिये प्रयास – कोण्डागांव जिले में महिलाओं व षिषुओं के स्वास्थ की देखरेख व उनके कुपोषण की दर को घटानें के लिये सतत प्रयास किये जा रहेे है। इसी के तहत पूरे प्रदेष में सिर्फ कोण्डागांव जिले में सरकारी राषन दुकानों में फोर्टीफाईड चावल वितरण किया जा रहा हैं। जिससे महिलाओं और बच्चों का कुपोषण दूर किया जा सके। बता दें कोण्डगांव जिला प्रदेष स्तर में कुपोषण की अधिक दर के लिये जाना जा रहा था जिस पर अब काबू पाया जा रहा है।
मौजूद रहे ये – जिसमें यूनिसेफ स्टेट कम्युनिकेशन फॉर डेवलपमेंट कंसल्टेंट राहिल सूबेदार, यूनिसेफ जिला समन्वयक सिमरन धंजल, ब्लॉक कार्यक्रम अधिकारी व बाल विकास परियोजना अधिकारी, स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारी, महिला एवं बाल विकास के कर्मचारी, पंचायत सदस्य, हितग्राही व ग्रामीण जनता शामिल रहे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button