आईटीबीपी की 29वीं वाहिनी द्वारा कोण्डागाॅव व नक्सल प्रभावित क्षेत्र नारायणपुर में किया जा रहा पौधारोपण, 15 हजार फलदार पौधों को रोपेगी वाहिनी पूरी दुनिया को कोरोना ने समझाया वृक्षों और आॅक्सीजन का महत्व – कलीम मसूद खान – ABB News
Uncategorized

आईटीबीपी की 29वीं वाहिनी द्वारा कोण्डागाॅव व नक्सल प्रभावित क्षेत्र नारायणपुर में किया जा रहा पौधारोपण, 15 हजार फलदार पौधों को रोपेगी वाहिनी पूरी दुनिया को कोरोना ने समझाया वृक्षों और आॅक्सीजन का महत्व – कलीम मसूद खान

29वीं वाहिनी, भातिसी पुलिस बल आईटीबीपी सामरिक मुख्यालय, कोण्डागांव व नारायणपुर में नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में अपनी ड्यूटी का निर्वहन कर रही है। वाहिनी अपने कार्यक्षेत्र में आॅपरेषनल कर्तव्यों का निर्वहन करने के साथ-साथ स्थानीय लोगों को जागरूक करने के लिये समय-समय पर भिन्न-भिन्न कार्यक्रम आयोजन करती है। इसी क्रम में 29वीं वाहिनी भातिसी पुलिस बल आईटीबीपी द्वारा 25 जुलाई को नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में अपनी ड्यूटी के निर्वहन के साथ-साथ अपने तैनाती स्थलो धोड़ाई, झारा, फरसगाॅव, मुंजमेटा व नेलवाड़, जिला नारायणपुर व कोण्ड़ागांव में वृहद रूप से पौधोरोपण सभी सुरक्षा कैम्पों में किया गया।
आईटीबीपी द्वारा रोपे जायेगे 15 हजार पौधे – इस अवसर पर कलीम मसूद खान द्वितीय कमान के मार्गदर्षन में जिला नारायणपुर, कोण्ड़ागांव में सभी तैनाती स्थानों पर आम, अमरूद, नीम, सीताफल, जामुन, जामफल, काजू इत्यादि पौधों का रोपण किया गया। इस पर कमान अधिकारी ने जवानों को संबोधित करते हुए कहा कि हम सभी को पर्यावरण को बचाने के लिए हर संभव प्रयास करने होंगे, जिससे कि आॅक्सीजन की कमी को पूरा किया जा सके। कोरोना संकटकाल ने हमें पर्यावरण का महत्व समझा दिया है। जहाॅ दुनिया में आॅक्सीजन की कमी के कारण संकटो का सामना करना पडा। हम सभी को संकल्प लेना है कि हम पेडों की रक्षा अपने प्राणों की तरह करेंगे। वाहिनी द्वारा इस वर्षा ऋतु के दौरान अपने सभी तैनाती स्थानों पर वन महोत्सव का आयोजन कर वन विभाग के सहयोग से लगभग पन्द्रह हजार पौधो का रोपण किया जा रहा है।
रक्षा के साथ साथ पर्यावरण की सुरक्षा भी – 29वीं वाहिनी भातिसी पुलिस बल आईटीबीपी घोर नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में तैनाती के साथ समय-समय पर अपने जिम्मेदारी के क्षेत्रों में आम जनता को विभिन्न रूपो में सहायता व सुरक्षा प्रदान करने हेतु तत्पर है। साथ ही मेडिकल कैम्प व अन्य आवष्यकतानुसार सिविक एक्षन कैम्प लगाकर नागरिको की सेवा में हमेषा तैयार रहती है जिससे आईटीबीपी व अन्य सुरक्षा बलो के प्रति स्थानीय जनता के दिलो में विष्वास, सहानुभुति व सुरक्षा की भावना पैदा हुई है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button